रुड़की।चौदह फरवरी को “मातृ-पितृ पूजन दिवस” के रूप में मनाने के संकल्प के साथ युवा सेवा संघ,श्री योग वेदांत

सेवा समिति तथा महिला उत्थान मंडल रुड़की शाखा की ओर से अशोक नगर में आयोजित कार्यक्रम में निवर्तमान मेयर गौरव गोयल अतिथि के रूप में पहुंचे।अपने संबोधन में गौरव गोयल ने कहा कि पूज्य बापूजी का जीवन,उपदेश और योग लीलाओं पर आधारित है,जिसमें उनका दर्शन तथा सत्संग की महिमा अवर्णनीय है,कितना भी दुखी,निराश व हताश व्यक्ति क्यों ना हो सत्संग की शीतल फुहार पडते ही उसके दुख दूर हो जाते हैं।उन्होंने कहा कि बच्चों द्वारा अपने माता-पिता के पूजन जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से ही चौदह फरवरी के दिन वाले वैलेंटाइन डे जैसी पाश्चात्य संस्कृति को समाप्त किया जा सकता है।इस अवसर पर निवर्तमान मेयर गौरव गोयल ने मातृ-पितृ पूजन कार्यक्रम में आए सैकड़ों बच्चों को उपहार स्वरूप पाठन सामग्री वितरित की।कार्यक्रम में संस्था द्वारा उन्हें स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।इस अवसर पर संचालक प्रेम सिंह वर्मा, कमल सिंह राणा,पवन कुमार,सत्येंद्र पाल व अवनीश त्यागी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

G News India