चदौसीअयोध्या में भगवान श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा के उपरांत बने श्री राम मय वातावरण में श्री राम कथा का आयोजन यशोदा सिनेमा में हुआ

सभल। चदौसीअयोध्या में भगवान श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा के उपरांत बने श्री राम मय वातावरण में श्री राम कथा का आयोजन यशोदा सिनेमा में हुआ,

3
1
2
3
4
18
7
WhatsApp Image 2023-03-27 at 13.05.32
12
6
16
5
13

जिसमें उच्च शिक्षा विभाग लखनऊ के विशेष सचिव डा. अखिलेश कुमार मिश्रा ने श्री राम कथा का वचन किया। सर्वप्रथम यजमान श्वेता शर्मा एवं निखिल शर्मा ने भगवान श्री गणेश एवं भगवान श्री राम और राम दरबार का विधिवत मंत्र उच्चारण के साथ पूजन किया और संभल में अपर जिलाधिकारी रह चुके तथा वर्तमान में उत्तर प्रदेश सरकार में उच्च शिक्षा विभाग के विशेष सचिव अखिलेश कुमार मिश्रा को सॉल उड़ाकर भगवा वस्त्र भेंट करके रोली चावल से तिलक करते हुए स्वागत और अभिनंदन किया। इस अवसर पर कथा व्यास के रूप में डॉक्टर अखिलेश कुमार मिश्रा ने श्री राम कथा का भावपूर्ण वाचन किया। उन्होंने कहा कि राम को केवल प्रेम ही प्यारा है। जो जानते हैं वह इस बात को मानते भी हैं। प्रेम से बड़ा कोई नहीं। उन्होंने भगवान राम के जन्मोत्सव, विवाह उत्सव, वन गमन, लंका दहन, लंका विजय, रामराज्य और वैकुंठ गमन के अनेक मार्मिक और तार्किक प्रसंग सुना कर जन सामान्य को मोहित कर दिया। संगीत मय श्री राम कथा के अनेक प्रसंग सुनाकर डॉक्टर अखिलेश कुमार मिश्रा ने कहा कि वर्तमान और भविष्य की पारिवारिक व्यक्तिगत सामाजिक राजनीतिक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कोई भी ऐसी समस्या नहीं है जिसका श्री राम कथा में हल न दिया गया हो अर्थात भगवान श्री राम को जानने और मानने वाले कभी समस्या का सामना नहीं करते बल्कि समस्या का हल करते हैं। डॉक्टर अखिलेश कुमार मिश्रा ने कहा कि भगवान विष्णु का कल्कि स्वरूप अवतार संभल में ही होगा। इसलिए संभल में श्री राम कथा का वाचन करना और सुनना परम सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि जब रावण लंका में सीता मां को अपनी रानी बनाने की कुचेष्टा करता था तब ऐसा संभव नहीं हो पाता था और माता सीता उसे एक तिनके का सहारा लेकर भी अपने पति व्रत धर्म के कारण ललकार देती थी। लेकिन मंत्रियों द्वारा सुझाए गए तरीके को ध्यान में रखते हुए रावण ने जब भगवान श्री राम का वेश धारण किया तो उसे हर पर स्त्री मां के समान दिखाई देने लगी। यह है भगवान श्री राम का स्वभाव रूप और शक्ति। ऐसे ही अनेक मार्मिक प्रसंगों के द्वारा डॉक्टर अखिलेश कुमार मिश्रा ने श्री राम कथा का प्रमाणिक तार्किक संगीत मय वाचन किया। इस अवसर पर संभल में अपर पुलिस अधीक्षक और पुलिस अधीक्षक रहे तथा उत्तर प्रदेश पुलिस सेवा में आईजी के पद से सेवा निवृत डॉक्टर पीयूष श्रीवास्तव ने अपनी धर्मपत्नी के साथ भगवान श्री राम की आरती में भाग लिया। अरविंद कुमार अरोड़ा, डॉक्टर सलिल दीक्षित, कपिल सिंघल, संजय संख्यिधर, सुधीर कुमार शर्मा, नीरू चाहल, मीनू रस्तोगी, विनय कुमार मिश्रा, यू सी सक्सेना,वीरेंद्र कुमार रस्तोगी, अजय सिंघल, सचिन गुप्ता, आदि ने कथा व्यास पंडित डॉक्टर अखिलेश कुमार मिश्रा को माल्यार्पण करके स्वागत एवं अभिनंदन किया।

G News India