एमपी ने तोड़ा अपना ही रिकॉर्ड, 8 लाख किसानों ने बेचा 45 लाख हजार टन धान

इस साल 45 लाख 43 हजार टन धान खरीदी हुई है जो अपने आप में ही एक रिकॉर्ड है। यह पिछली बार की धान खरीदी से ज्यादा है। जानकारी मिली है कि पिछले साल 37 लाख टन धान खरीदी हुई थी। प्रदेश में 1960 रुपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य के हिसाब से धान खरीदी की जाती है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में इस साल अधिक मात्रा में धान खरीदी हुई है। प्रदेश ने धान खरीदी में अपने ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है। इस साल 45 लाख 43 हजार टन धान खरीदी हुई है जो अपने आप में ही एक रिकॉर्ड है। यह पिछली बार की धान खरीदी से ज्यादा है। जानकारी मिली है कि पिछले साल 37 लाख टन धान खरीदी हुई थी। प्रदेश में 1960 रुपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य के हिसाब से धान खरीदी की जाती है।

वहीं इस बार समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए 8 लाख 33 हजार 865 किसानों ने पंजीयन करवा था। इन किसानों से 45.43 लाख टन धान खरीदी हुई है। बताया जा रहा है कि समर्थन मूल्य पर हुई धान खरीदी में किसानों को 4 हजार 877 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। यह पैसे बैंक के जरिए सीधे किसानों के अकाउंट पहुंचा है।

आपको बता दें कि प्रदेश मे इस बार 35 लाख हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र मे धान की बोवनी की गई थी। 20 जनवरी तक धान की खरीदी की गई थी। लेकिन इसमें कुछ जिलों में किसानों को राहत दी गई। जहां बारिश की वजह से उपज बेच नहीं पाए थे पंजीयन करवाने के बाद भी उन्हें विशेष अनुमति दी गई है।