आईपीओ में कीजिए निवेश, जानिए किन छह कंपनियों के आने वाले पब्लिक इश्‍यू

छह कंपनियों ने अगस्‍त और सितंबर के बीच अपना अपना आईपीओ पेपर फाइल किया था, जिन्‍हें गत 16-18 नवंबर के बीच ऑब्‍जर्वेशन लेटर मिल गया है। बताया जाता है कि मार्केट रेग्‍युलेटर सेबी की भाषा में ऑब्‍जर्वेशन पेपर जारी करने का मतलब आईपीओ के लिए आगे बढ़ना होता है।

 

शेयर बाजार में यदि आपकी दिलचस्पी है तो आने वाले दिनों में आईपीओ के तहत आने वाले विभिन्न कम्पनियों के पब्लिक इश्यू में निवेश कीजिए। यदि किस्मत ने साथ दिया तो आपकी भी बल्ले-बल्ले हो सकती है। बता दें कि मेडप्‍लस हेल्‍थ सर्विसेज, रेटगेन ट्रैवल टेक्‍नोलॉजीज, फ्यूजन माइक्रो फाइनेंस, प्रुडेंट कॉरपोरेट एडवाइजरी,  ट्रैक्‍सन टेक्‍नोलॉजीज और पुराणिक बिल्‍डर्स जैसी छह कंपनियों के आईपीओ को सेबी ने हरी झंडी दे दी है। इसलिए आप यदि शेयर बाजार में आईपीओ के जरिए प्रवेश (एंट्री) करने की सोच रहे हैं, तो आने वाले दिनों में आपको जबरदस्‍त मौके मिलने वाले हैं।

बता दें कि फॉर्मेसी रिटेल चेन मेडप्‍लस हेल्‍थ सर्विसेज, ट्रैवल टेक्‍नोलॉजी सर्विसेज फर्म रेटगेन ट्रैवल टेक्‍नोलॉजीज, माइक्रोलेंडर फ्यूजन माइक्रो फाइनेंस समेत छह कंपनियों को आईपीओ के जरिए फंड जुटाने की सेबी ने मंजूरी दे दी है। वहीं, दूसरी अन्‍य कंपनियां जो अपना आईपीओ लाने जा रही हैं, उनमें रिटेल वेल्‍थ मैनजमेंट कंपनी प्रुडेंट कॉरपोरेट एडवाइजरी, प्राइवेट मार्केट इंटेलिजेंस प्‍लेटफॉर्म ट्रैक्‍सन टेक्‍नोलॉजीज और रीयल एस्‍टेट डेवपलर्स पुराणिक बिल्‍डर्स प्रमुख हैं।

इसे भी पढ़ें: जानिए क्या है आरबीआई की नई एकीकृत लोकपाल योजना?

गौरतलब है कि उपर्युक्त सभी छह कंपनियों ने अगस्‍त और सितंबर के बीच अपना अपना आईपीओ पेपर फाइल किया था, जिन्‍हें गत 16-18 नवंबर के बीच ऑब्‍जर्वेशन लेटर मिल गया है। बताया जाता है कि मार्केट रेग्‍युलेटर सेबी की भाषा में ऑब्‍जर्वेशन पेपर जारी करने का मतलब आईपीओ के लिए आगे बढ़ना होता है।

 

# मेडप्‍लस हेल्‍थ सर्विसेज: 1639 करोड़ का आईपीओ

 

ड्रॉफ्ट पेपर के अनुसार, मेडप्‍लस हेल्‍थ सर्विसेज 1,639 करोड़ के आईपीओ में 600 करोड़ के फ्रेश इक्विटी शेयर और ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के जरिए 1,038.71 करोड़ रुपये का इक्विटी शेयर शामिल है। ओएफएस में प्रमोटर और मौजूदा शेयर धारक अपनी हिस्‍सेदारी घटाते हैं।

 

# रेटगेन ट्रैवल टेक्‍नोलॉजीज: 400 करोड़ का आईपीओ

 

रेटगेन ट्रैवल टेक्‍नोलॉजीज के इश्‍यू में 400 करोड़ का फ्रेश इक्विटी शेयर और 2.26 करोड़ शेयर तक का ओएफएस शामिल होगा।

 

# फ्यूजन माइक्रो फाइनेंस: 600 करोड़ का आईपीओ

 

फ्यूजन माइक्रो फाइनेंस के आईपीओ में 600 करोड़ रुपये का फ्रेश इक्विटी शेयर और 2.19 करोड़ इक्विटी शेयर का ओएफएस होगा।

 

# प्रुडेंट कॉरपोरेट एडवाइजरी सर्विसेज: लगभग 85 लाख का आईपीओ

 

प्रुडेंट कॉरपोरेट एडवाइजरी सर्विसेज पूरी पब्लिक ऑफर 85,49,340 इक्विटी शेयर के ओएफएस के जरिए लाएगी।

 

# पुराणिक बिल्‍डर्स: 510 करोड़ का आईपीओ

 

रीयल एस्‍टेट कंपनी पुराणिक बिल्‍डर्स के आईपीओ में 510 करोड़ रुपये का फ्रेश इक्विटी शेयर और 9.45 लाख तक इक्विटी शेयर का ओएफएस शामिल होगा। ओएफएस में कंपनी के प्रमोटर हिस्‍सेदारी घटाएंगे।

 

# ट्रैक्‍सन टेक्‍नोलॉजीज: 3.86 करोड़ का आईपीओ

 

ट्रैक्‍सन टेक्‍नोलॉजीज के आईपीओ भी 3.86 करोड़ इक्विटी शेयर का ओएफएस होगा। इसमें प्रमोटर और इन्‍वेस्‍टर दोनों शेयर सेल करेंगे।

इसे भी पढ़ें: आरबीआई रिटेल डायरेक्ट स्कीम क्या है? इसके क्या क्या फायदे हैं? पढ़ें सारे जानकारी

बता दें कि इन सभी छह कंपनियों के शेयर बीएसई और एनएसई लिस्‍ट होंगे। वहीं, 25 से अधिक नई कंपनियों ने पहले ही 2021 में अपना आईपीओ डेब्यू कर लिया है। वहीं, कई नए आईपीओ साल 2021 की आगामी आईपीओ सूची में शामिल की जा चुकी हैं।

 

# कुछ नए आईपीओ ब्लॉकबस्टर हैं और लिस्टिंग के दिन शानदार रिटर्न दिए हैं, जबकि कुछ लिस्टिंग के बाद कर रहे हैं अच्छा प्रदर्शन 

 

खास बात यह कि कुछ नए आईपीओ ब्लॉकबस्टर हैं और लिस्टिंग के दिन शानदार रिटर्न दिए हैं, जबकि कुछ लिस्टिंग के बाद अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उदाहरण के लिए- तत्त्व चिंतन फरना, पारस डिफेंस, लक्ष्मी ऑर्गेनिक्स, जोमैटो, देवयानी इंटरनेशनल, एमी ऑर्गेनिक्स, रोलेक्स रिंग्स, जीआर इंफ्रा, क्लीन साइंस, नजरा टेक्नोलॉजीज और अन्य जैसे आईपीओ लिस्टिंग और इसके जारी रहने के बाद अच्छे दिख रहे हैं। इसलिए आने वाले आईपीओ कैलेंडर के लिए आप जागरूक बने रहें, जो आपको लिस्टिंग पर अच्छा रिटर्न दे सकता है।

 

यदि आप आगामी आईपीओ, जो 2021 की शेष अवधि में प्राथमिक बाजार में आ सकते हैं, के बारे में जानने को उत्सुक हैं, तो यह जान लीजिए कि यहां पर आपको उन्हीं कम्पनियों की जानकारी मिलेंगी, जिन्होंने सेबी के साथ अपनी डीआरएचपी तिथियों और अनुमानित आईपीओ आकार के साथ प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश के लिए दायर किया था। इसलिए आप उन कंपनियों की सूची देखें जो पहले ही डीआरएचपी दाखिल कर चुकी हैं और 2021 में आगामी आईपीओ सूची में शामिल हो गई हैं।