जमीयत उलेमा हिंद द्वारा ट्रेनिंग सेंटर निर्माण कराने के मामले ने राजनीतिक तूल पकडा

देवबंदः जमीयत उलेमा हिंद द्वारा ट्रेनिंग सेंटर निर्माण कराने के मामले ने राजनीतिक तूल पकडा

रविवार को गांव केंदुकी में भाजपा व हिंदू संगठन के नेताओं ने महापंचायत आयोजित कर स्काउट गाइड ट्रेनिंग सेंटर के निर्माण का खुला विरोध करने का निर्णय लिया

महापंचायत में पहुंचे वक्ताओं ने पूरे प्रकरण को लेकर संघर्ष समिति गठित करने की घोषणा की साथ ही जब तक स्काउट गाइड प्रशिक्षण केंद्र का निर्माण नहीं रुक जाता तब तक अनिश्चितकालीन आंदोलन चलाने की घोषणा की

✍रिर्पोट :- गौरव सिंघल,जिला प्रभारी,जी न्यूज इंडिया,जनपद सहारनपुर,उप्र:।

देवबंद (जी न्यूज इंडिया ब्यूरो)। जमीयत उलेमा हिंद द्वारा ट्रेनिंग सेंटर निर्माण का मामला राजनीतिक तूल पकड़ गया है। रविवार को गांव केंदुकी में भाजपा व हिंदू संगठन के नेताओं ने महापंचायत आयोजित कर स्काउट गाइड ट्रेनिंग सेंटर के निर्माण का खुला विरोध करने का निर्णय लिया गया। महापंचायत में पहुंचे वक्ताओं ने पूरे प्रकरण को लेकर संघर्ष समिति गठित करने की घोषणा की साथ ही जब तक स्काउट गाइड प्रशिक्षण केंद्र का निर्माण नहीं रुक जाता तब तक अनिश्चितकालीन आंदोलन चलाने की घोषणा की। केंदुकी गांव स्थित प्राचीन शिव मंदिर में आयोजित हिंदू संगठनों व भाजपा की बैठक को संबोधित करते हुए पश्चिम उत्तर प्रदेश के बजरंग दल प्रांत संयोजक विकास त्यागी ने कहा कि जमीयत उलेमा हिंद ट्रेनिंग सेंटरों के नाम पर केंद्र व प्रदेश सरकार के समक्ष समानांतर सरकार चलाने की रणनीति बना रहा है। देवबंद में एटीएस सेंटर का निर्माण होते ही जमीअत उलेमा हिंद द्वारा निकटवर्ती गांव में ही स्काउट गाइड प्रशिक्षण केंद्र के नाम पर आतंकी सेंटर खोलने की तैयारी शुरू कर दी है। क्षेत्र का हिंदू समाज जमीयत को अपनी योजना में सफल नहीं होने देगा। विकास त्यागी ने कहा कि जल्द ही पूरे प्रकरण को लेकर हिंदू व भाजपा संगठन के लोग लखनऊ में मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे और जमीयत की असली हकीकत सरकार प्रशासन के सामने लाएंगे। महापंचायत में बोलते हुए देवबंद के पूर्व ब्लाक प्रमुख ठाकुर अनिल सिंह पुंडीर ने कहा जमीयत उलेमा हिंद द्वारा मुस्लिम बहुल क्षेत्र में ट्रेनिंग सेंटर के नाम पर सैकड़ों बीघा जमीन खरीदना संदिग्ध गतिविधियों की ओर इशारा कर रहा है। देश में जब भारत स्काउट गाइड प्रशिक्षण केंद्र के नाम पर कोई भी सेंटर संचालित नहीं है तो ऐसे में जमीयत उलेमा हिंद सेंटर का निर्माण कर सरकार को क्या दिखाना चाहती है? महापंचायत को संबोधित करते हुए भाजपा जिला मंत्री पंकज त्यागी और भाजपा पश्चिमी उत्तर प्रदेश क्षेत्रीय कार्यसमिति के सदस्य विपुल त्यागी ने कहा की भाजपा सरकार के शासन में जमीयत उलेमा हिंद के इरादों मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। पूरे प्रकरण को लेकर जल्दी सहारनपुर से मुजफ्फरनगर के गांव- गांव में महापंचायत आयोजित की जाएंगी। जिसकी रणनीति तैयार की जा रही है। ठाकुर चंदन सिंह राणा ने कहा देवबंद क्षेत्र में इतने बड़े पैमाने पर जमीयत उलेमा हिंद द्वारा जमीन खरीदना एक सुनियोजित साजिश का हिस्सा है। जिसके पीछे सरकार को गंभीरता के साथ जांच करानी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि देवबंद क्षेत्र में हवाला के पैसे से जमीयत उलेमा हिंद व अन्य संगठन से जुड़े लोग भारी स्तर पर जमीन खरीदते हैं। जिसकी जांच होना जरूरी है। महापंचायत को पूर्व प्रधान अनुज त्यागी, भाजपा नेता जितेंद्र त्यागी और ईश्वर पाल चौधरी ने भी संबोधित किया। महापंचायत में मुजफ्फरनगर, सहारनपुर और मेरठ समेत अन्य क्षेत्र के लोगों ने भी भागीदारी की। पंचायत की अध्यक्षता पूर्व प्रधान देव शर्मा ने तथा संचालन भाजपा जिला मंत्री पंकज त्यागी ने किया। इस मौके पर बृजेश त्यागी, अमित त्यागी, अक्षय धीमान, विहिप के डा.अमित चौधरी,अभिनव कौशिक, मास्टर अंकित त्यागी, शुभम कुमार, मोंकित पुंडीर, प्रधान अनिल कुमार, राजेंद्र चौधरी, नीटू प्रधान, भूषण त्यागी, काले राम त्यागी, अमित त्यागी समेत अन्य गांव के लोग मौजूद रहे। रविवार को गांव में आयोजित महापंचायत में सर्व समाज के लोगों ने भाग लिया। जिसमें सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि पूरे प्रकरण को लेकर संघर्ष समिति का गठन किया जाएगा और गांव-गांव में पंचायतों का दौर शुरू कर ट्रेनिंग सेंटर का विरोध किया जाएगा। जब तक प्रशासन को जमीयत उलेमा हिंद लिखित में यह नहीं देते कि जमीन पर कोई भी निर्माण नहीं होगा तब तक आंदोलन बड़े स्तर पर गांव-गांव में किया जाएगा।

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,615,757Deaths: 470,115