कृष्ण ही नैया कृष्ण खिवैया कृष्ण ही तारणहार

कृष्ण ही नैया कृष्ण खिवैया कृष्ण ही तारणहार
चाहे मझधार छोड़कर जाएं चाहे बनें पतवार

जिनकी भृकुटि मात्र से तिनका शोला बन जाए
बिना मिले संकेत हरि का पत्ता भी न हिल पाए

सृष्टि सृजेता प्रलयहार वही जड़ चेतन आधार
चाहे मझधार छोड़कर जाएं चाहे बनें पतवार

संग राधिका भव आराधिका दें विघ्नों से त्राण
मोक्षदायिनी भव तारिणी करतीं जन कल्याण

कृपा बरसती युगलछवि की हँसता यह संसार
चाहे मझधार छोड़कर जाएं चाहे बनें पतवार।

सत्यप्रकाश पाण्डेय

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,175,468Deaths: 454,269