जीवन रक्षक दवाइयां बाजार से गायब  ओकसीमीटर 3 गुना महंगा

डॉ अनुज अग्रवाल

जीवन रक्षक दवाइयां बाजार से गायब  ओकसीमीटर 3 गुना महंगा

डा अनुज अग्रवाल

मुजफ्फरनगर ।मौजूदा समय में वैश्विक बीमारी कोरोना के उपचार में काम आने वाली दवाइयां बाजार में इस समय गायब है दुकानदारों का कहना है कि फेसबुक व्हाट्सएप और यूट्यूब पर इन दवाइयों का ज्यादा प्रचार प्रसार होने के कारण आमजन ने बिना जरूरत के भी इन दवाइयों को खरीद कर इन दवाइयों का अभाव पैदा कर दिया है आज बाजार में मेडिकल स्टोर पर जब शरीर की इमुनिटी  पावर बढ़ाने के लिए विटामिन सी विटामिन डी तथा पेरासिटामोल 650 के बारे में जानकारी की तो स्टोर स्वामी ने इन दवाइयों की शॉर्टेज होना बताया  स्टोर स्वामियों

का कहना था कि पिछले चार-पांच दिन से यह दवाइयां मार्केट से गायब हो चुकी है। क्योंकि लोगों ने कोरोना  बीमारी में शरीर की पावर बढ़ाने के लिए विटामिन सी तथा बॉडी में कैल्शियम की मात्रा डाउन ना हो क्योंकि नागरिक अब धूप में नहीं बैठते हैं तो विटामिन डी पूरा करने के लिए विटामिन डी और यदि बुखार है। तो डोलो 650 या पेरासिटामोल 650 के नाम से आने वाली दवाइयां बुखार में ली जाती है दवाइयों की बहुत ज्यादातर  खरीद होने के कारण बाजार में इनकी उपलब्धता में कमी आ गई है जिला केमिस्ट एसोसिएशन के  चेयरमैन  प्रमोद मित्तल का कहना है कि  अचानक  सोशल मीडिया पर  कुछ दवाइयों के नाम उछल जाने के कारण  बाजार में शॉर्टेज हुई है दो से 4 दिन मैं  सभी दवाइयों की समुचित आपूर्ति हो जाएगी यही नहीं छैसौ से 700 की कीमत में बिकने वाला ऑक्सीमीटर जो ऑक्सीजन की मात्रा बताता है वह भी इस समय 1700 से 1800 की कीमत में बिक रहा है क्योंकि अमूमन आठ से दस लोगों के परिवार ऑक्सीमीटर को अब घर पर लाकर घर पर ही ऑक्सीजन की दिन में तीन तीन चार चार बार जांच कर रहे हैं हालांकि नगर के कुछ चिकित्सकों का कहना है कि सारे बुखार कोरोनावायरस से जुड़े नहीं है इस समय वायरल फीवर तथा टाइफाइड भी चल रहा है बहुत जल्दी बुखार होना तथा गला खराब होने को कोरोना कह देना उचित नहीं है क्योंकि जांच के उपरांत ही कोरोना की घोषणा की जाती है और यह जांच प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों  ही पर उपलब्ध है।

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,175,468Deaths: 454,269