मुस्लिम युवकों ने पंडित जी की शव यात्रा को शमशान तक पहुंचाया

डॉ अनुज अग्रवाल शाहपुर

शाहपुर कोरोना के खौफ के चलते शव यात्रा में लोग कंधा देने के बजाय घरों में घुस गए बाद में मुस्लिम बहुल गांव में कई दर्जन मुस्लिम युवकों ने पंडित जी की शव यात्रा को शमशान तक पहुंचाया निकटवर्ती गांव कसेरवा में एक ही ब्राह्मण परिवार है इस परिवार के मुखिया 60 वर्षीय पंडित बृजभूषण शर्मा अरे थे थे उनके दो पुत्र दीपक शर्मा तथा प्रदीप शर्मा दो बेटी है पूरे गांव में अकेला एक ही परिवार है 2 दिन से पंडित जी को सीने में दर्द चल रहा था आज हृदय गति रुकने से उनका निधन हो गया सूचना पर उनके रिश्तेदार गांव में पहुंचे गांव कसेरवा मुस्लिम बाहुल्य गांव है लेकिन गांव में अन्य बिरादरी के परिवार भी रहते हैं जैसे ही पंडित जी के मरने की सूचना मिली तो सभी लोग घरों में घुस गए बाद में कोरोना बीमारी को दरकिनार कर इंसानियत का फर्ज निभाते हुए गांव के ही मोहम्मद तालिब ग्राम प्रधान अखलाक चौधरी सीआरपीएफ के जवान काशिफ चौधरी रईसुद्दीन आदि दो दर्जन से ज्यादा मुस्लिम लोगों ने बृजभूषण शर्मा जी की अर्थी को कंधा देते हुए शमशान तक पहुंचाया इस बारे में जब गांव के मोहम्मद तालिब से बात की तो उन्होंने बताया कि इंसानियत पहला फर्ज है आज गांव में कोरोना बीमारी के चलते लोगों में कोरोना का इतना खौफ है कि लोग अपने फर्ज को भी करने से डर रहे हैं उन्होंने कहा कि यह उनका फर्ज था जो उन्होंने किया है गांव में आपस में आपसी तालमेल अच्छा है लेकिन यह गांव का पहला वाकया है की गांव में अर्थी को उन्हीं के समाज के लोग कंधा देने वाले नहीं मिले जबकि मरने के बाद दोनों ही समाज के लोग अंतिम शव यात्रा में चाहे 10 कदम चलो पीछे चलते जरूर है

x

COVID-19

India
Confirmed: 719,664Deaths: 20,159