पर्यावरण संतुलन बनाने के लिए पौधारोपण जरूरी। उतराखड टिहरी

पर्यावरण संतुलन बनाने के लिए पौधारोपण जरूरी।
उतराखड टिहरी:

पर्यावरणीय संतुलन बनाने में जहां पेड़-पौधे लगाना आवश्यक है वही उनकी सुरक्षा करना भी जरुरी है विश्व पर्यावरण दिवस के पूर्व दिवस पर ग्रामसभा लामकाण्डे (सकलाना) में क्षेत्र पंचायत सदस्य सरिता रावत, प्रधान लामकाण्डे भूपेंद्र सिंह मानवाल, प्रसिद्ध पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी, वन दरोगा सकलाना रेंज जयपाल सिंह गुलेरिया के साथ ग्रामीणों व एनएसएस के स्वयंसेवियों ने सघन पौधरोपण किया जिसमें नाशपति, अखरोट, पुलम के 50 पौधों का रोपण हुआ।

विश्व पर्यावरण दिवस के परिपेक्ष में वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने कहा प्रकृति हमारे लिए अनमोल खजाना है इसमें निहित पेड़-पौधे व वन्यजीव की सुरक्षा करना हमारा परम कर्तव्य है जहाँ पशु व्यवसाय के लिए चारापत्ती के पौधे प्रकृति ने दी हैं वही नैसर्गिक सौंदर्य के लिए शोभादार व रोजगार पौधे भी हमे दिए हैं जो मानव जीवन के लिए जीने के आश्रय वन सकते हैं।
वनदरोगा जयपाल सिंह गुलेरिया ने कहा पेड़-पौधे को मित्र के रूप में हमें स्वीकार करना चाहिए ताकि पौधों का संरक्षण हो सके। वीडीसी सदस्य सरिता रावत ने जन जन से अधिक से अधिक पौधारोपण कर पर्यावरणीय संतुलन बनाने की अपील की वही प्रधान भूपेंद्र सिंह मानवाल ने पौधारोपण कर बदलते मौसम के दशाओं को रोकने की जरूरत कहा।
पौधारोपण में नरेंद्र सिंह बिष्ट, वीर चन्द कुमाई, संदीप नेगी, गजेंद्र सिंह, हरिपाल सिंह, जयपाल सिंह गुलेरिया, वनबीट अधिकारी सौंग, हीरासिंह पंवार, गोठ विजय कुमार, सतेंद्र सिंह, प्रवीन सिंह, भूपाल सिंह, यशपाल सिंह, गोविंद सिंह रावत, सोना देवी वनसरपंच, भारती, रेखा रावत एवं अन्य सम्मलित हुए।
वीरेंद्र रावत थलीसैंण गढ़वाल