पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने पर राहुल-प्रियंका का डबल अटैक, कहा- सूटकेस भर रही सरकार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला है. पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने को लेकर दोनों नेताओं ने सरकार पर निशाना साधा है और कच्चे तेल की गिरती कीमतों का लाभ जनता तक ना पहुंचाने का आरोप लगाया है.
कोरोना वायरस महामारी के संकट के बीच सरकार के सामने राजस्व का संकट है तो वहीं लोगों के सामने रोजगार का संकट है. इस बीच केंद्र सरकार ने मंगलवार को पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज़ ड्यूटी बढ़ाने का फैसला लिया. इस मसले पर अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार को घेरा है. राहुल गांधी ने केंद्र सरकार के निर्णय को अनुचित करार दिया.
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को इस मसले पर ट्वीट कर लिखा, ‘कोरोना वायरस से जारी लड़ाई हमारे करोड़ों भाइयों और बहनों के लिए गंभीर आर्थिक कठिनाई का कारण बन रही है. इस समय, कीमतें कम करने के बजाय, पेट्रोल और डीजल पर 10-13 ₹ प्रति लीटर कर बढ़ाने का सरकार का निर्णय अनुचित है और इसे वापस लिया जाना चाहिए.’
राहुल गांधी के अलावा प्रियंका गांधी ने भी सरकार पर तीखा हमला बोला. प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा, ‘कच्चे तेल के दामों में भारी गिरावट का फायदा जनता को मिलना चाहिए. लेकिन भाजपा सरकार बार-बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर जनता को मिलने वाला सारा फायदा अपने सूटकेस में भर लेती है.’
कांग्रेस नेत्री ने ट्वीट कर लिखा कि गिरावट का फायदा जनता को मिल नहीं रहा है और जो पैसा इकट्ठा हो रहा है उससे भी मजदूरों की, मध्यम वर्ग की किसानों की और उद्योगों की मदद हो नहीं रही है. आख़िर सरकार पैसा इकट्ठा किसके लिए कर रही है?’
गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने मंगलवार देर रात को पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने का निर्णय लिया. पेट्रोल पर प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी में 10 रुपये की और डीजल पर 13 रुपये की बढ़ोतरी की गई है.
हालांकि, सरकार की ओर से कहा गया है कि इस बढ़ोतरी का आम जनता पर कोई असर नहीं पड़ेगा. लेकिन दुनियाभर में कच्चे तेल की कीमतों में जो भारी गिरावट देखने को मिल रही है, उसका लाभ आम जनता को नहीं मिल पाएगा. इस बढ़े हुए एक्साइज़ का इस्तेमाल सरकार अपना खजाना भरने में करेगी.

x

COVID-19

India
Confirmed: 236,184Deaths: 6,649
ine