नार्थ कोरिया के मार्शल किम जोंग उन के खि‍लाफ साज‍िश रच रहा है चीन!

किम की गुमशुदगी के दौरान जैसा की खबरें आ रहीं थी, वो बेहद बीमार हैं और राजधानी प्योंगयोंग में भी नहीं है. फर्ज़ कीजिए कि मार्शल गायब ही हो गए होते. या उन्हें कुछ हो जाता तो इसका सीधा फायदा किसे पहुंचता?
क्या आप जानते हैं नॉर्थ कोरिया के सुप्रीम लीडर मार्शल किम जोंग उन अक्सर गायब क्यों हो जाते हैं? क्यों दुनिया की नज़रों से उत्तर कोरिया अपने मार्शल की हमेशा पर्देदारी रखता है? उनके गायब से होने से किसे फायदा है? क्या किसी खास प्लानिंग के तहत होती है मार्शल किम जोंग उन की गुमशुदगी? बहुत कम लोगों को इसका राज़ पता है. बस इसी बात का ख़ौफ अमेरिका को है. लिहाज़ा किम जब अचानक गायब हुए तो अमेरिका की बेचैनी बढ़ गई और उसने उनकी टोह लेने के लिए 5-5 जासूसी विमान भेज दिए.

ज़ाहिर तौर पर किम के गायब हो जाने से आपको इसमें अमेरिका का फायदा दिखाई देगा. क्योंकि एक तो नॉर्थ कोरिया परमाणु संपन्न देश है. ऊपर से अमेरिका को अपना दुश्मन मानता है. और तो और इन परमाणु हथियारों का रिमोट भी एक ऐसे शख्स के हाथ में जो पल में तोला, पल में माशा की मानिंद बदलता है. मगर आप गलत हैं. यहां कहानी उलटी है और दिलचस्प भी है.

किम की गुमशुदगी के दौरान जैसा की खबरें आ रहीं थी वो बेहद बीमार हैं और राजधानी प्योंगयोंग में भी नहीं है. फर्ज़ कीजिए कि मार्शल गायब ही हो गए होते. या उन्हें कुछ हो जाता तो इसका सीधा फायदा किसे पहुंचता? ये फायदा अमेरिका को कतई नहीं पहुंचता. बल्कि ये फायदा होने वाला था चीन को.

शायद इसीलिए किम की गुमशुदगी के दौरान अमेरिका और दक्षिण कोरिया की खुफिया टीमें उनकी टोह लेने के लिए सरगर्मी से जुटी हुई थीं. अमेरिका ने किम से जुड़ी जानकारी इकट्ठा करने के लिए अपने 5 जासूसी विमान भी भेजे दिए थे. जिनमें RC-12s, E-8C Joint STARS, EO-5C Crazy Hawk जैसे विमान शामिल थे. साउथ कोरिया ने भी अपना एक टोही विमान नॉर्थ कोरिया की गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए भेजा था

x

COVID-19

India
Confirmed: 236,184Deaths: 6,649
ine