आज है अप्रैल फूल डे, जानिए पहली बार किसने किसको बनाया था FOOL

नई दिल्ली। “अप्रैल फूल बनाया, बड़ा मजा आया”  आज 1 अप्रैल हैं और आज के दिन भारत समेत दुनिया भर के लोग इस दिन को अप्रैल फूल डे के रूप में मनाते है। इस दिन कई देशों में छुट्टी भी होती है। इस दिन लोग एक-दूसरे का मजाक बनाते है और हंसते है। अप्रैल फूल डे कई देशों में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है, जैसे फ्रांस और इटली में लोग एक-दूसरे  को बेवकूफ बनाने के लिए  उनके पीठ पर कागज वाली मछली चिपकाते है और मजाक उड़ाते है।अप्रैल फूल इन देशों में April fish के नाम से जाना जाता है। कहा जाता है कि आज के दिन किसी का कितना भी मजाक बना लो वो कभी भी बुरा नहीं मानता है। कोई इस दिन को अप्रैल फूल डे कहता है तो कोई अप्रैल फिश , लेकिन किसी का मजाक उड़ाना और उन पर हंसना  हर देश में एक जैसा ही है। अब सवाल है कि जिस डे के जरिए आप सभी एक-दूसरे का मजाक बनाते है उस डे को मनाने के पीछे का कारण क्या है? तो आइये जानते है क्या है अप्रैल फूल डे का इतिहास और इसे क्यों मनाते है।

1 अप्रैल को फूल डे के रूप में क्यों मनाते है इसके पीछे इतिहासकारों ने कई कारण दिया है जिसका पहला कराण है- कैलेंडर। कहा जाता है कि अप्रैल फूल का इतिहास आज से करीब 438 साल पुराना है। फ्रांस ने 1582 में जूनियन कैलेंडर को छोड़कर ग्रेगोरियन कैलेंडर अपनाया। जूनियन कैलेंडर में नया साल 1 अप्रैल से शुरू होता था जबकि ग्रेगोरियन कैलेंडर में यह 1 जनवरी पर शिफ्ट हो गया।बदलाव के बावजूद कई लोग फिर भी नया साल  1 अप्रैल को ही मनाते थे, लोग नए साल की तैयारी मार्च के अंतिम हफ्तों से शुरू करते थे और इसे 1 अप्रैल तक चलाते थे जिसकी वजह से इन सब का काफी मजाक बना और उन्हें अप्रैल फूल (April Fools) कहा जाने लगा।

दूसरा कारण- हिलेरिया

हिलेरिया एक लेटिन शब्द है। इसका मतलब होता है Joyful। कहा जाता है कि प्राचीन रोम के समुदाय हिलेरिया को एक त्योहार के रूप में मनाते थे। इस त्योहार को मार्च के अंत तक मनाया जाता था जिसमें लोग एक-दूसरे का वेश बनाकर लोगों का बेवकूफ बनाते थे। इतिहासकारों के मुताबिक हिलेरिया को अप्रैल फूल के रूप में भी मनाया जाता है।

तीसरा कारण- वसंत विषुव 

अप्रैल का पहला  दिन वसंत का होता है। यह वो वक्त है जब प्रकृति में बदलाव देखने को मिलते है। यानि की  प्रकृति अपने बदलते रूप से लोगों को बेवकूफ बनाती है, इसलिए इस दिन को अप्रैल फूल डे के रूप में मनाया जाता है।

 

x

COVID-19

World
Confirmed: 0Deaths: 0
ine