*कुछ रोज की तो बात है औकात मे रहो*? *जीवन बचा रहे उसी हालात मे रहो*?

Spread the love

*कुछ रोज की तो बात है औकात मे रहो*?
*जीवन बचा रहे उसी हालात मे रहो*?
*मुश्किल घङी मे है पङा इन्सान आजकल*———-
*आफत का वक्त है थोङा जज्बात मे रहो*!!
*घर मे रहोगे अपनो के नजरों के सामने*!
*चैनो सकूँ मिलेगा सभी साथ में रहो*।
*खानी पङी थी घास की राणा को रोटीया हालात ए जंग है न सवालात मे रहो*[email protected]@@
*************************
बर्तमान हालात जंग के हालात से भी बदतर हो गया है। हर तरफ मायूसी भरी दहशत कदम कदम पर फजीहत रोजी रोटी खतम हो गयी !खेती किसान तबाही के रास्ते पर खङी है कल कारखाने बन्द है दिहाङी मजदूर बे मौत मर रहा है। सङक की पटरीयो पर ठेला खोमचा साग भाजी बेचने वाले लोगों का परिवार परवर दिगार के भरोशे पर जी रहा है। गरीब खून का आसू पी रहा है। न काम न धन्धा सब कुछ हो गया मन्दा! बस एक ही चर्चा हर तरफ आ गया करोना?– घर के भीतर रहो बाहर निकलो ना[email protected]। जीने की तमन्ना न मरने का इरादा सबका साथ सबका बिकाश का सरकार पूरा कर रही है वादा। पूरी दुनियाँ तबाही के मुहाने पर खङी है मानवता को खत्म करने के लिये मौत सिरहाने पर आकर अङी है।कब क्या हो जाये कहना मुश्किल है! करोना के भय से थर थर कांप रहा दिल है।
हर तरफ निराशा हताशा भय का वातावरण! तेजी से दुनियाँ मे फैल रहा है करोना का आवरण! हर कोई घरो के भीतर ही ले रहा है शरण।! देश का परिवेश घातक होता जा रहा है। करोना का कहर रोजाना बढता जा रहा है।जो आकङे आ रहे है वह भयभीत करने के लिये काफी है फीर भी लोग सरकारी आदेश का उपहास कर रहे है। मौत को दावत दे रहे है। सरकारी फरमान है जिन्दगी की सलामती के लिये दरवाजा बन्द करो अपने लिये न सही अपने परिवार के के खुशहाली के लिये करोना से ङरो?
आज भारत के सभी प्रदेश सभी जिलो के बार्ङर सील कर दिये गये है जो जहाँ है वहीँ रोक दिया गया है। सबसे बङी समस्या कल कारखानो मे काम करने वाले मजदूरो ट्रान्पोर्टरो के सामने आ पङा है मजदूर शहरो मे फसे है तो ट्रक बार्ङरो पर खङे है सबके सामने मौत नाच रही है कोई पूछने वाला नही है। ऐसे मे बिहार सरकार ने हेल्प लाईन बिहारी मजदूरो के लिये शुरू कर दिया है यू पी सरकार को भी बिहार मध्य प्रदेश के बार्ङरो पर फंसे ट्रक ङ्राईबरो तथा मजदूरो के लिये भी हेल्प लाईन शुरू करना चाहीये ताकी वे भी सुरक्षित रह सके।अपने घरो को आ सके सबसे बङा सवाल है अगर वे सक्रमित है तो ऊनका इलाज उस बियाबान बार्ङर पर कैसे होगा! महामारी से कैसे बचेगे !इस पर सरकार क्यो मौन है? सरकार को इस पर तत्काल पहल करना चाहीये!
बिश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत मे चल रही तैयारी को देखकर सन्तोष जाहीर किया है। कोरोना वायरस को लेकर भारत की सजगता व सतर्कता की विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी निदेशक माइकल जे. रेयान ने तारीफ करते कहा कि भारत में कोरोना वायरस की महामारी से निपटने की जबरदस्त क्षमता है। क्योंकि इसके पास दो महामारियों स्मॉल पॉक्स और पोलियो को खत्म करने का अनुभव है।
रयान ने कोविड-19 महामारी को लेकर कहा कि भारत एक बहुत बड़ी आबादी वाला देश है और इस वायरस का भविष्य बहुत अधिक और घनी आबादी वाले देशों में हो सकता है। भारत ने दो महामारियो स्मॉल चिकन पॉक्स और पोलियो के खात्मे में दुनियाँ का नेतृत्व किया है इसलिए भारत में एक जबरदस्त क्षमता है।
उन्होंने कहा कि भारत जैसे देश दुनिया को रास्ता दिखाते हैं, जैसा उन्होंने पहले किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनियाँ भर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 3,30,000 को पार कर गई है?,जबकि मौतों की संख्या 14,000 से अधिक हो गई है। यह सभी अनुमानित सरकारी आकङे है लेकीन सत्यता को तो हर कोई जान रहा है भारत में कोरोना वायरस के अभी तक 500 मामले सामने आए हैं। और 10 लोगों की मौत हो चुकी है,। वहीं 30 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने कोरोना वायरस के चलते अपने-अपने यहां पूर्ण लॉकडाउन के आदेश दिए हैं। और 6 अन्य राज्यों ने भी अपने कुछ क्षेत्रों में इसी तरह के प्रतिबंधों की घोषणा की है। पंजाब और महाराष्ट्र ने अपने यहां कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य सरकारों से लॉकडाउन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने को कहा है। क्योंकि लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।करोना का तीसरा चरण शुरू हो चुका है सारी दुनियां की नजर भारत पर है। बुहान शहर मे कहर रूक गया चाईना का सफर सुहाना है होने लगा है लेकीन भारत के लिये खतरा बरकरार है। पूरी तरह निपटने के लिये तैयार सरकार है।
हम आप महज कुछ दिन आपस मे दूरी बना ले करोना का जहर अपने आप ठहर जायेगा। फीर नया बिहान होगा मुस्कराता अगङाई लेता हिन्दुस्तान होगा?लेकीन थोङी भी हुयी लापरवाही तो घर के भीतर तक मच जायेगी तबाही ! फिर न आप सुरक्षित रह पायेगे न आप का सम्मान होगा! रोती बिलखती रात होगी दर्द से कराहता बिहान होगा ?अभी समय है सम्हल जाईये बर्बादी की चल रही सुनामी मे घरो के भीतर ठहर जाईये? देश के परिवेश को बिषाक्त होने हे बचा ले दुनिया को दिखा दे सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्ता हमारा -‘हमारा–!!!!!
जयहिन्द🇮🇳🙏🙏
जगदीश सिंह