तूफान के हालात है ना किसी सफर में रहो*। *पंछियो से गुजारिश है अपने शजर मे रहो*। *माना की बंजारो के तरह घूमे हो ङगर ङगर*। *वक्त का तकाजा है अब अपने ही घर में रहो।

Spread the love

*तूफान के हालात है ना किसी सफर में रहो*।
*पंछियो से गुजारिश है अपने शजर मे रहो*।
*माना की बंजारो के तरह घूमे हो ङगर ङगर*।
*वक्त का तकाजा है अब अपने ही घर में रहो*।
*************************
हालात बेकाबू न होने पाये प्रशासन चौकस हो गया है। लगातार जिलों को लाक ङाऊन किया जा रहा है। सदिग्धो की जांच पङताल के क्रम में बाहर से आने वाले परीजनो को खुद ही घर के लोग एकान्त वास दे रहें है। प्रचार प्रसार का ही असर है कि हर आदमी जागरूक हो चुका है। हर घर करोना को लेकर सतर्कता बरत रहा है। गाँव हो या शहर हो करोना के कहर की चर्चा आम हो गयी! लोगों में दहशत इस कदर है की लगता है दोपहर में ही शाम हो गयी है। हर आदमी घरों मे कैद है! बाहरी ब्यक्ति को आने से रोकने के लिये मुस्तैद है!राज्य सरकार हो या केन्द्र सरकार सभी का मरीजों को लेकर एक ही तरह का है ब्यवहार जहाँ भी खबर मिली मरीज का शुरू कर दिया जा रहा है उपचार! सतर्कता का आलम यह है कि अब अपने भी पराये सरीखे ब्यवहार कर रहें है । जिस परीवार के लिये परदेश में सब कुछ छोङकर गये थे वापस आये तो वही परिवार बेगाना हो गया!न खुदा ही मिला न बिशाले सनम वाली बात हो गयी है। घर परिवार नातेदार रिश्तेदार घर बार सब कुछ साबित हो रहा है बेकार! न मुहब्बत न प्यार! सब लोग करोना के ङर से कर दे रहे है दर किनार ,?हर तरफ हंगामा है चारो तरफ शोर है करोना फैल रहा चहुओर है। उत्तर प्रदेश के 21जिलो मे लाकङाऊन कर दिया गया हर तरफ हाहाकार है हर जिले की सीमा सील करने मे लगी सरकार है?वही बीदेशो के हालात देखिये महाशक्ति कहे जाने वाले अमरीका में कोरोना वायरस से मरने वालों की तादाद तेज़ी के साथ बढ़ रही है। और पिछले 24 घंटों में अन्य 100 लोगों की मौत के बाद इस देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या लगभग 400 हो गयी है।
अमेरिका में वायरस के फैलाव की स्थिति देखते हुए यह लग रहा है कि यह देश भी महामारी कोरोना वायरस की भयंकर चपेट में आ रहा है।खबरों के अनुसार अमेरिका में कम से कम 38 हजार 396 लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं।संक्रमित होने वालों में अमेरिकी सीनेटर रैंड पॉल भी शामिल हो गए हैं। समाचारों के अनुसार  रविवार को हुए टेस्ट में 57 वर्षीय रैंड को पॉजिटिव पाया गया है।
अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कुछ हफ्ते पहले, अमरीका में कोरोना के फैलाव की खबरों को डेमोक्रेटों की धूर्तता बताया था लेकिन अब उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस के फैलाव की वजह से अमरीका में हालात खराब हैं। अब तक अमरीका के 50 राज्य, कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं।
अमरीका में अस्पताल संघ ने गत 8 मार्च को अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि संभावित रूप से 9 करोड़ 80 लाख अमरीकी कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं! और उनमें से 4 लाख 80 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो सकती है।
अमरीकी वेब साइट ट्रूथ आउट ने लिखा है कि अमरीका में 2 करोड़ 80 लाख लोगों के बीमा नहीं है इस लिए इस देश में कोरोना का फैलाव एक त्रासदी में बदल जाएगा। पश्चिमी देशों में कोरोना से रोज़ाना सैकड़ों जानें जा रही हैं। स्पेन में पिछले 24 घंटे के दौरान 462 लोग मौत की नींद सो गए! जबकि अब तक स्पेन में इस बीमारी में मरने वालों की संख्या 2182 हो गई है।
स्पेन में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों की संख्या भी सोमवार को 28 हज़ार 572 से अचानक बढ़कर 33 हज़ार 89 हो गई है। हालांकि प्रशासन ने पूरे देश में लाक डाउन कर रखा है और आवाजाही पर कड़ी रोक लगा दी गई है।स्पेन के स्वास्थ्य मंत्री पेड्रो सांचेज़ ने कहा है कि बुरा समय अभी आने वाला है। सांचेज़ ने रविवार को प्रेस कान्फ्रेन्स में कहा कि हम जंग की हालत में हैं।: स्पेन में पिछले 24 घंटे में 462 लोग कोरोना की भेंट चढ़ गये है।
स्पेन की सरकार अपातकाल और लाक डाउन को 11 अप्रैल तक बढ़ाना चाहती है क्योंकि कोरोना के कारण यूरोप में इटली के बाद स्पेन की सबसे बुरी हालत है।
इस बीच स्पेन की उप प्रधानमंत्री कारमेन कैल्वो को सांस की तकलीफ़ होने के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनके कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट का इंतेज़ार किया जा रहा है।उधर जर्मनी से सूचना मिली है कि जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल होम क्वैरेंटीन में चली गई हैं क्योंकि उन्हें पता चला कि जिस डाक्टर ने उन्हें वैक्सीन लगाया था वह कोरोना पाज़िटिव निकला है। जर्मनी की सरकार के प्रवक्ता ने इस ख़बर की पुष्टि की है।
डाक्टर ने शुक्रवार को मर्केल को वैक्सीन लगाया था मगर बाद में डाक्टर का टेस्ट हुआ तो पता चला कि वह कोरोना से संक्रमित है। प्रवक्ता ने बताया कि जैसे ही चांसलर को डाक्टर की रिपोर्ट के बारे में जानकारी मिली उन्होंने होम क्वैरेंटाइन में जाने का निर्णय किया! और आने वाले दिनों में उनके कोरोना वायरस के कई टेस्ट किए जाएंगे।जर्मनी में 21 हज़ार लोग कोरोना से संक्रमित हैं।अमरीका में कोरोना वायरस से मरने वालों की तादाद तेज़ी के साथ बढ़ रही है और पिछले 24 घंटों में अन्य 100 लोगों की मौत के बाद इस देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या लगभग 400 हो गयी है।
अमेरिका में वायरस के फैलाव की स्थिति देखते हुए यह लग रहा है कि यह देश भी  महामारी घकोरोना वायरस की भयंकर चपेट में आ रहा है।
खबरों के अनुसार अमेरिका में कम से कम 38 हजार 396 लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं।
संक्रमित होने वालों में अमेरिकी सीनेटर रैंड पॉल भी शामिल हो गए हैं। समाचारों के अनुसार  रविवार को हुए टेस्ट में 57 वर्षीय रैंड को पॉजिटिव पाया गया है।
अब तक अमरीका के 50 राज्य, कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। अमरीका में अस्पताल संघ ने गत 8 मार्च को अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि संभावित रूप से 9 करोड़ 80 लाख अमरीकी कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं और उनमें से 4 लाख 80 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो सकती वही चाईना जिसने महामारी को कनाट्रोल करने का दावा कर रहा था फीर चपेट मे आ गया है।ठीक वही हालात भारत के भी हो सकते है। धीरे धीरे करोना वायरस के मरीज रोजाना बढ रहे है सरकार सतर्क है लेकीन जब तक जन जागरण नही होगा खुद मे सतर्कता नही बरता जायेगा तब तक इस महामारी से खतरा बना रहेगा। सीमायें सील की जा रही है लगातार सरकारी अमला करोना के कहर से निपटने के लिये भागदौङकर रहा है हर आदमी ङर रहा है। इस लिरे अपने पराये मे भेद न करे कही भी किसी भी ब्यक्ति पर शंका सुबहा हो तत्काल हेल्प लाईन पर खबर करे, हमेशा सतर्क रहे सावधान रहे! भीङभाङ वाले जगह पर जाने से बचे! यह काम हम आप सबको करना@ पूरी दुनियाँ को लीलने को तैयार करोना है। बस सरकारी निर्देशो का पालन करे धैर्य धारन करे? आने वाला कल बिकल भाव लिये करोना के कहर का आभाष दिला रहा है भयावहता का अहसास दिला रहा है।बिषाक्त हो रहे आवरण से बचिये सोचिये समझिये खुद फैसला किजीये! आप का भी भला होगा राष्ट्र का भी भला होगा।