शिक्षकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल को मिला जनप्रतिनिधियों का पुरजोर समर्थन

Spread the love

*शिक्षकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल को मिला जनप्रतिनिधियों का पुरजोर समर्थन*

आरा से नीरज कुमार का रिपोर्ट

आरा-बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर दशवें दिन भी शिक्षकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल प्रखंड मुख्यालयों पर जारी रही। कोईलवर प्रखंड मुख्यालय पर चल रहे धरना/प्रदर्शन में सम्मिलित शिक्षक/शिक्षिकाओं को संबोधित करते हुए धनडीहां पंचायत के माननीय मुखिया संजय कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षकों की मांगे हर तरह से जायज एवं बिहार के हित में हैं। मैं बिहार की शिक्षा एवं शिक्षकहित में इसका पुरजोर समर्थन करता हूं। बताते चलें कि शिक्षकों की मांगों को लेकर कोईलवर के अन्य जनप्रतिनिधियों का भी समर्थन मिल रहा है। प्रखंड स्तरीय धरना को संबोधित करते हुए बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ (गोपगुट) के प्रखंड सचिव- सह- सदस्य, सचिव मंडल, बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति, कोईलवर, अरविंद कुमार ने बताया कि यदि बिहार सरकार हमारी जायज मांगों पर संज्ञान नहीं लेती है तो बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति, बिहार प्रदेश के अगली रणनीति के तहत 27 फरवरी को बिहार के सभी प्रखंड मुख्यालय पर परिवार सहित शिक्षक धरना देंगें, 01 मार्च को स्थानीय विधायकों के स्थानीय आवास पर धरना देंगें और 05 मार्च को बिहार राज्य के सभी जिला में आक्रोश मार्च निकाला जायेगा एवं जिला पदाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा जायेगा।
अनिश्चतकालीन धरना को बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के प्रखंड संयोजक मुस्ताक मुहम्मद, प्रखंड अध्यक्ष-सचिव मंडल के बागेश कुमार, रवि कुमार, संकुल समन्वयक, संतोष कुमार, धर्मेश तिवारी, अर्चना कुमारी ने कहा की सरकार द्वारा की जा रही दमनात्मक कार्रवाई से हम डरने वाले नहीं हैं और अपनी मांगें पूरी होने तक सभी शिक्षक चट्टानी एकता के साथ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर अड़े रहेंगे। धरना स्थल पर महामाया गोपाल, पवन कुमार, सत्येन्द्र कुमार, मो. अयूब आलम, मलिका जहां, आशा कुमारी सहित सैकड़ों शिक्षक/शिक्षिका उपस्थित रहे।