कश्यप समाज 2 मार्च को मुजफ्फरनगर में करेगा अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरु

Spread the love

कश्यप समाज 2 मार्च को मुजफ्फरनगर में करेगा अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरु

। बुढ़ाना के कश्यप समाज ने एक बार फिर लंबा धरना देने की तैयारी शुरू कर दी है। हो सकता है होली व दुलहेंडी कश्यप समाज पहली बार धरने पर ही मनाये। इसका कारण अभी तक भी कश्यप समाज से जुड़ी अन्य 17 जातियों को अनुसुचित जाति मे शामिल नहीं किया गया। जिसको लेकर कश्यप समाज के लोगों में शासन के प्रति भारी रोष है। इसी बात को लेकर बीती मंगलवार की देर रात कश्यप समाज की एक बैठक बुढ़ाना के एमबीबीएस चिकित्सक सोनू कश्यप के चांदनी वाला मंदिर के समीप स्थित आवास पर हुई। जिसमें कश्यप समाज के मुजफ्फरनगर जिले में आगामी दो मार्च से शुरू होने वाले अनिश्चितकालीन धरने को सफल बनाने की रूपरेखा तैयार की गई। इस मौके पर देवेंद्र कश्यप, राकेश कश्यप और मोहन लाल मास्टर ने कार्यक्रम की तैयारी के लिए चर्चा की। जिसमें कश्यप समाज की अन्य 17 जातियों को अनुसुचित जाति मे शामिल कराने के लिए ज़िला मुख्यालय मुज़फ्फरनगर पर अनिश्चितकाल धरने पर बैठने की रणनीति तैयार की गई। यहां पर इंजीनियर देवेंद्र सिंह कश्यप ने कहा कि देश का संविधान लागू हुए 70 वर्ष हो गये। लेकिन संविधान में लिखे आरक्षण की विसंगति आज तक दूर नहीं हुई। 70 वर्ष बाद आज भी बहुत सी वंचित और शोषित जातियों कश्यप, निषाद, केवट, मल्लाह, बिन्द, कहार, धीवर, धीमर, मांझी, मुजाबिर, भर, राजभर, कुम्हार, प्रजापति, बढई, लोहर, दर्जी, जुलाहा, तेली, नाई, वारी, पाल, गडरिया व बघेल को अनुसूचित जाति की सुविधा प्राप्त नहीं हुई है। अतः वंचित एवं शोषित जातियों को संवैधानिक आरक्षण का अधिकार दिलाने के लिए संवैधानिक आरक्षण सत्याग्रह आन्दोलन को सफल बनाने के लिए अपने बहुमूल्य तन मन धन से सहयोगी बनें। सत्याग्रह का अर्थ होता है सत्य बातों को मंगवाने के लिए किया जाने वाला आग्रह। यह आन्दोलन देश एवं समाज को सही दिशा देगा। इसमें हमारे समस्त अधिकारीगणों को ऊपर उठकर सहयोग करना होगा। इस आन्दोलन में फरीयादी राष्ट्रीय सम्पत्ति को सार्वजनिक सम्पत्ति को या किसी भी व्यक्ति की नीजि सम्पत्ति को या किसी भी प्रकार की अन्य चीजों को कोई हानि नहीं पहुँचायेंगे।