अयोध्या प्रकरण राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिकी थीं पूरे देश की निगाहें

Spread the love

अयोध्या प्रकरण राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पूरे देश की निगाहें इस फैसले पर टिकी थी।

कांधला अयोध्या प्रकरण राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पूरे देश की निगाहें इस फैसले पर टिकी थी। फैसले को लेकर प्रशासन सांसें थामे खड़ा रहा। सुरक्षा चाक-चैबंद कर दी गई ताकि किसी भी तरह के हालात से निपटा जा सके। हालांकि, फैसले की सुबह बेहद सामान्य रही और लोग अपनी आम दिनचर्या में व्यस्त दिखे।
अयोध्या विवादित स्थल पर फैसला आने से पूर्व नगर में पुलिस प्रशासन व आला अधिकारियों ने फ्लैग मार्च कर आम जन को फैसले के बाद शांति व सौहार्द बनाए रखने की अपील की। वही प्रशासन ने सभी मंदिरों व मस्जिदों पर जाकर हालत का जायजा लिया। शांति व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस सुरक्षा मित्रों को भी मंदिरों व मस्जिदों के बाहर तैनात किया गया। जहां पर वह लोगों से सौहार्द व शांति की अपील करते नजर आए। फैसले को लेकर लोगों में उत्सुकता बनी रही। चाय की दुकानें पहले की तरह गुलजार रही। रोज की तरह ही स्थानीय निवासी कहीं भी आ-जा रहे हैं। बाजारों में भी रोजमर्रा की तरह चहल पहल रही। एसडीएम अमित पाल शर्मा, सी ओ कैराना, तहसीलदार कैराना ने थाना प्रभारी निरीक्षक के साथ – साथ जवानों के साथ रूट मार्च किया। संवेदनशील और मिश्रित आबादी वाले इलाकों में पुलिस लगातार है भ्रमणशील रही। नगर के दिल्ली सहारनपुर बस स्टैंड, कैराना बस स्टैंड, लक्ष्मी नारायण मंदिर, वैष्णो देंवी मंदिर, श्री नील कंठ महादेव मंदिर के साथ जामा मस्जिद, हौज वाली मस्जिद, ईदगाह के आस पास पुलिस प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद नजर आया। थाना प्रभारी निरीक्षक प्रभाकर कैंतुरा का कहना है कि कस्बे को चार सैक्टर और पूरे थाना क्षेत्र को नौ सैक्टरों में बांटा गया है। उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक माहौल खराब करने वाले लोगों से सख्ती CV से निपटा जायेंगा, साथ हीं ऐसे लोगों पर रासुका की कार्रवाई भी की जायेंगी। पूरे दिन नगर बिल्कुल रोजमर्रा की तरह सामान्य रहा।

रिपोर्ट:अख्तर कुरैशी कांधला