पोषण माह के अंतर्गत मनाया किशोरी दिवस

Spread the love
पोषण माह के अंतर्गत मनाया किशोरी दिवस
मुजफ्फरनगर। जनपद के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर एवं स्कूलों में पोषण माह के अंतर्गत सोमवार को किशोरी दिवस पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत डॉक्टरों की टीम ने एम जी पब्लिक स्कूल एवं अन्य स्कूलों में छात्राओं के खून, हीमोग्लोबिन, ऊंचाई एवं वजन आदि की जांच की। उन्हें तंदुरुस्त रहने के टिप्स दिये गए। इसके अलावा कम हीमोग्लोबिन पाए जाने पर किशोरियों को आयरन की गोलियों के साथ ही बेहतर पोषण की जानकारी दी गई।
जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने बताया, किशोरी दिवस के लिए विभाग की ओर से हर संभव सहायता दी जाती है और महिलाओं को स्वास्थ्य संबधी जानकारी के साथ साथ परिवार को भी स्वस्थ रखने के लिए घरेलू उपायों से अवगत कराया जाता है।
सोमवार को आयोजित किशोरी दिवस में डॉक्टरों, एएनएम और अनुभवी महिलाओं ने किशोरी बालिकाओं से संबधित विषयों पर चर्चा की। उन्हें बताया गया कि किशोरियों में एनीमिया की कमी दूर करने के लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
सीएमएस अमिता गर्ग ने बताया, महिलाओं एवं किशोरियों को खान पान के लिए गुड़, चना, सहजन, अंकुरित दालें, विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ, प्रोटीन युक्त भोजन का सेवन करना चाहिए। साथ ही खून की कमी होने पर आयरन की गोलियां लेनी चाहिएं। उन्होंने बताया आयरन की टैबलेट को दूध, चाय ,कॉफी के साथ नहीं दिया जाना चाहिए। आयरन की गोली नीबूं पानी, संतरा, कीनू, आंवला आदि के साथ ली जाए, क्योंकि विटामिन सी आयरन के अवशोषण में मदद करता है। उन्होंने बताया, शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए आयरन की आवश्यकता होती है। आयरन की कमी से थकान, सांस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द होता है। साथ ही मासिक धर्म के दौरान अत्यधिक रक्त स्राव से शरीर में रक्त की कमी हो जाती है। उन्होंने बताया, एनीमिया के उपचार के लिए हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ाने के लिए पालक जैसी पत्तेदार हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए ।