वित्तीय संकट से जूझ रहे जेट एयरवेज के 3 और विमान नहीं भरेंगे उड़ान, रद्द हुई 20 उड़ानें

जेट एयरवेज की ओर से विमानों का पट्टा किराया नहीं चुकाया गया है। इसलिए उसे अपने तीन और बोइंग-737 विमानों को परिचालन से बाहर करना पड़ा है।

मुंबई। कर्ज के बोझ से जूझ रही निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी जेट एयरवेज के तीन बोइंग-737 विमानों को मंगलवार को खड़ा कर दिया गया। इससे उसकी करीब 20 घरेलू उड़ानें रद्द करनी पड़ीं। कंपनी ने ये विमान पट्टे पर लिए हुए थे। समय पर इनका पट्टा किराया नहीं चुकाने के चलते इन्हें खड़ा कर दिया गया। सूत्रों ने जानकारी दी कि इन तीन विमानों को परिचालन से बाहर करने के बाद पिछले दो दिनों में किराया नहीं चुकाने की वजह से खड़े किए गए विमानों की कुल संख्या छह हो गई है।

इस घटनाक्रम से वाकिफ एक सूत्र ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘जेट एयरवेज की ओर से विमानों का पट्टा किराया नहीं चुकाया गया है। इसलिए उसे अपने तीन और बोइंग-737 विमानों को परिचालन से बाहर करना पड़ा है।’ कंपनी अपनी सहयोगी एतिहाद से अतिरिक्त पूंजी का निवेश करने पर बातचीत कर रही है। लेकिन इन तीन विमानों को बाहर किए जाने से उसने अपनी दिल्ली, चेन्नई, मुंबई, पुणे, हैदराबाद, पोर्ट ब्लेयर और बेंगलुरू को जाने और आने वाली कम से कम 19 उड़ाने रद्द की हैं।

 

x

COVID-19

India
Confirmed: 236,184Deaths: 6,649
ine